चिमनगंज मंडी में सोयाबीन की इतनी आवक कि सड़क पर ढेर लगे

0
129

उज्जैन | Oct 21, 2018

कृषि उपज मंडी में इन दिनों सोयाबीन की भरपूर आवक हो रही है। शनिवार को ज्यादा आवक होने से व्यापारियों ने सड़क पर ढेर लगा दिए।

भावांतर भुगतान के पहले दिन मंडी में 175 किसानों ने बेची 4343 क्विंटल सोयाबीन

पंजीयन कराने वाले किसानों को ही मिलेगा लाभ, पांच दस्तावेज देना जरूरी

भास्कर संवाददाता | उज्जैन

खरीफ सीजन के तहत भावांतर भुगतान योजना में सोयाबीन खरीदी का शनिवार को पहला दिन था। कृषि मंडी में 175 पंजीकृत किसानों ने 4343 क्विंटल सोयाबीन बेची। मंडी अफसरों के अनुसार इन किसानों को फ्लेट 500 रुपए प्रति क्विंटल बताैर बोनस दिए जाएंगे। पहले दिन आने वाले किसानों के खाते में 21 लाख 71 हजार 500 रुपए जमा कराए जाएंगे। यह राशि कब जमा होगी यह तय नहीं है। मंडी निरीक्षण महेश शर्मा के अनुसार इनके साथ 125 गैर पंजीकृत किसानों ने भी सोयाबीन बेची लेकिन उन्हें भावांतर भुगतान का लाभ नहीं मिलेगा।

तीन जगह हाे रही इंट्री

भावांतर में पंजीकृत किसानों को राशि खाते में जमा कराने के लिए मंडी में तीन स्थानों पर इंट्री की जा रही है। पहला मंडी गेट, दूसरा नीलामी और तीसरा तौल कांटे। अनाज तिलहन व्यवसायी संघ के सचिव जितेंद्र अग्रवाल के अनुसार भावांतर भुगतान योजना में उपज बेचने वाले किसानों से व्यापारी प्रवेश पर्ची, तौल पर्ची, नीलाम पर्ची, भुगतान पत्रक और पंजीयन की फोटो कॉपी के साथ बैंक खाते की फोटो कॉपी ले रहे हैं। यह दस्तावेज मंडी कार्यालय में जमा कराने पर ही किसानों को भावांतर का लाभ मिलेगा। सोमवार से अावक और बढ़ने के आसार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here