आज से मंडियों में रहेगी सोयाबीन की बंपर आवक

0
174

उज्जैन Oct 20, 2018

मालवा प्रांत इस बार सोयाबीन उपज से लबालब है। वर्षों से सोयाबीन की खेती करने वाले किसान कम भाव पर बेचने को तैयार नहीं होते हैं। यही कारण है कि पिछले 6-7 माह में 3-4 साल पुराना सोयाबीन किसानों ने बेच दिया। 4 और 5 हजार भाव के लिए रोका सोयाबीन 2900-3000 रुपए में ही बेचना पड़ा है। इस साल किसान को अधिकतम भाव 2800 से 3050 रुपए क्विंटल तक के मिल रहे हैं। संभाग की अधिकतर कृषि उपज मंडियों का व्यापार बाहरी क्षेत्र में होने की खबर है। इस साल सख्ती के चलते बेनामी व्यापार पर राेक लगेगी। खेरची व्यापार 100-200 बोरी का होने से भी जांच और निगरानी का काम चालू है।

तेजी के इंतजार में रखा डॉलर चना होने लगा डंकी: करोड़ों रुपए का डॉलर चना तेजी के इंतजार में डंकी होने लगा है। छेद वाला चना सीधे भाव में 500 रुपए क्विंटल कम कर देता है। 6000 रुपए के अंतिम भाव कंटेनरों के होने के बाद स्टॉक वालों ने तेजी की उम्मीद छोड़ दी है। चने का रुटिन व्यापार करने वाले तो सोयाबीन की बढ़ती आवक में चना कम आने से 500 रुपए डॉलर तेज होने की आस लगा कर सेंपल बाजार में चला रहे हैं। लाल चना, डॉलर चना बीज में आदर्श पट्‌टी में खूब बिका। कहीं-कहीं गांव मेें तो पिकअप वाहन बीज से लोड कर भेजे गए। गेहूं बीज बेचने में भी मंडी की आदर्श पट्‌टी फेमस मानी जाती है। 5 लाख, 20 लाख, 50 लाख और एक करोड़ रुपए तक का डॉलर चना स्टॉक में होना माना जा रहा है। बड़े स्टॉक वालों के सौदे तेज बनते बिगड़ते चल रहे हैं।

सराफा चमकने लगा, सोना केडबरी 32150 रुपए बिका

सोना-चांदी और डायमंड ज्वेलरी से सराफा बाजार चमकने लगा है। नई फैशन वाली डिजाइनों के आभूषण की बिक्री को देखते हुए कारोबारी अब दीपावली का व्यापार कर नए साल की शुरुआत करेंगे। व्यापारियों का नया साल दीपावली ही माना जाता है। उज्जैन का सराफा वर्षों पुराना यहां ग्रामीण ग्राहकी की खासी रौनक देखी जा सकती है। सराफा के दलाल कैलाशचंद्र कौशिक ने बताया दीपावली की तैयारी में नई डिजाइनों की ज्वेलरी का बाजार सजने लगेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here