भावांतर का पंजीयन रुका तो मंडी उपाध्यक्ष ने खाना खा रहे कर्मचारी को जड़े चांटे, सचिव को धक्का दिया

0
115

उज्जैन | Oct 31, 2018

कृषि उपज मंडी उपाध्यक्ष शेरू अली पटेल ने मंगलवार को मंडी में भावांतर भुगतान योजना के लिए बनाए अस्थायी पंजीयन कार्यालय में घुसकर संविदा कर्मचारी से मारपीट की। उन्होंने मंडी सचिव के साथ धक्का-मुक्की भी की। इसके विरोध में मंडी कर्मचारियों ने एक घंटे (दोपहर 2 से 3 बजे तक) नीलामी बंद रखी। मंडी सचिव ने चिमनगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराने के लिए आवेदन दिया है। उन्होंने मंडी के एमडी को पत्र लिखकर पूरे मामले से अवगत कराया है। उपाध्यक्ष को पद से हटाने की अनुशंसा की है।

भावांतर भुगतान योजना के तहत किसानों को सोयाबीन बेचने पर सरकार 500 रुपए प्रति क्विंटल की राशि उनके खाते में जमा कराएगी। किसानों को मंडी में पांच दस्तावेज जमा करवाने हैं। मंडी परिसर में इसके लिए अस्थायी पंजीयन कार्यालय बनाया है। मंगलवार दोपहर 1.30 बजे बड़ी संख्या में किसान कतार में थे। इस दौरान मंडी उपाध्यक्ष पटेल वहां आए। उन्होंने खाना खा रहे संविदा कर्मचारी आशुतोष जौहरे से मारपीट की। मंडी सचिव राजेश गोयल समझाने के लिए आने बढ़े तो उन्हें धक्का दे दिया। विरोध में मंडी कर्मचारी कार्यालय के सामने एकत्र हो गए। टीआई अरविंद सिंह तोमर ने बताया विवाद की जानकारी मिली है, लेकिन एफआईआर दर्ज नहीं कराई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here