व्यवस्था में परिवर्तन किया तो 200 के बजाय 400 किसानों को मिला यूरिया

0
69

विदिशा Dec 08, 2019

तीन दिन के बाद शनिवार को प्रशासन ने यूरिया वितरण की व्यवस्था में परिवर्तन किया। जो किसान शनिवार को ही यूरिया लेने आए थे। प्रबंधन ने उन्हें भी यूरिया प्रदान किया। हालांकि इसके लिए उन्हें लंबी कतार में जरूर लगना पड़ा। क्षेत्र में चल रहे यूरिया संकट के बीच शनिवार को प्रशासन ने मार्कफेड के गोदाम से की जा रही यूरिया वितरण की व्यवस्था में परिवर्तन किया। बीते तीन दिनों प्रशासन द्वारा उन किसानों को यूरिया वितरण किया जा रहा था। जो एक दिन पहले आकर सूची में अपना नाम दर्ज करवाते थे। इस प्रक्रिया में किसानों को दो बोरी यूरिया लेने के लिए दो से तीन दिन तक सिरोंज के चक्कर काटना पड़ रहे थे। इसके बाद भी उन्हें लंबी कतार में लगना पड़ रहा था।

गोदाम पर दो पीओएस मशीन हो गईं: शनिवार को प्रशासन ने व्यवस्था में परिवर्तन किया और हाजीपुर सोसायटी को भी मार्कफेड गोदाम पर बुला लिया। ऐसे में गोदाम पर दो पीओएस मशीन हो गई। हाजीपुर सोसायटी प्रबंधन द्वारा अपनी पीओएस मशीन से उन किसानों को यूरिया बांटा गया, जिनके नाम दो दिन से बन रही सूची में थे। वहीं मार्कफेड गोदाम प्रबंधन द्वारा उन सभी किसानों को यूरिया प्रदान किया गया जो शनिवार को ही यूरिया लेने आए थे। इस वजह से केन्द्र पर दो कतार लगी दिखाई दी। इन व्यवस्था से यूरिया लेने आए सभी किसान खुश दिखाई दिए। किसान दातार सिंह ने बताया कि कम से कम यूरिया के लिए हमें दो-तीन चक्कर तो नहीं काटना पड़ेंगे। फिर भले ही एक दिन लंबा इंतजार करना पड़े।

यूरिया लेने के लिए मार्कफेड गाेदाम पर दिनभर िकसानाें की भीड़ लगी रही।

चार सौ से अधिक किसानों को बांटा, हमारे पास यूरिया का पर्याप्त स्टाक

मार्कफेड गोदाम प्रबंधक आरके रैकवार ने बताया कि बीते तीन दिन से हम दो से ढाई सौ किसानों को प्रतिदिन यूरिया बांट रहे थे। शनिवार को हमने चार सौ से अधिक किसानों को यूरिया बांटा है। रविवार के अवकाश के बाद सोमवार से वितरण की यही व्यवस्था रहेगी। किसान परेशान न हो हमारे पास यूरिया का पर्याप्त स्टाक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here