मंत्री मोहिले की मुंगेली दो साल से सूखे की चपेट में इधर, इनके ही गांव में खुले में सड़ गया लाखों का धान

0
121

बिलासपुर Oct 20, 2018

2013-14 में मुंगेली जिले की समितियों में 30 लाख 2 हजार 705 क्विंटल धान खरीदा गया। 53 हजार क्विंटल धान को मार्कफेड ने अमानक बताकर नहीं लिया। करीब साढ़े 8 करोड़ रुपए के धान को नीलाम करने का जिम्मा सहकारी संस्थाओंं को सौंपा गया। लेकिन धान की नीलामी नहीं हो सकी। अभी भी धान अरईबंद के दो तो गिधपुरी के एक संग्रहण केंद्र में सड़ रहा है। अब यह जानवरों के खाने लायक भी नहीं है। खाद्य मंत्री के गांव दशरंगपुर व जरहागांव के खरीदी केंद्र में 31 लाख रुपए का धान सड़ चुका है।

चार महीने पहले बनी सीसी रोड पर बजबजा रही नाली

दशरंगपुर के ग्रामीणों के मुताबिक चार माह पहले गांव में नया सीसी रोड बनाया गया लेकिन नाली नहीं होने से पानी निकासी की दिक्कत होती है। सीसी रोड मंत्री के घर की ओर बनी है, जबकि कहीं-कहीं अभी भी बारिश की दिनों मे कीचड़ फैलता है।

पिछले चुनाव में महज 1.87% अंतर से जीते

2013 चुनाव में मोहिले ने कांग्रेस के बारमते को महज 2745 वोटों से हराया था। 61026 वोट मोहिले को तो 58281 वोट बारमते को मिले थे।

मंत्री के गृहग्राम दशरंगपुर में तालाबों का हाल बेहाल

तखतपुर-मुंगेली रोड में स्थित दशरंगपुर में अंदर जाने पर एक तालाब दिखेगा, जिसमें घास उग आई है। प्रदेश सरकार के तालाबों के जिर्णोद्धार के लिए बनाई गए योजनाओं का यहां हाल बेहाल है।

क्षेत्र के मुद्दे और भी…

सरकारी राशन दुकान अक्सर बंद, लोगों को फायदा नहीं

उचित मूल्य दुकान सह गोदाम बनने के बाद भी हालत खराब हैं। दुकान पहले गांव के मुख्य द्वार के पास विक्रेता संजय मोहिले के घर में संचालित थी। अब सरकारी भवन में शिफ्ट हुई है। लेकिन अक्सर यह दुकान बंद रहती है।

प्रदेश के पहले खुले शौच मुक्त जिले में भारी भ्रष्टाचार, कई अभी भी अधूरे। मनरेगा मंे भुगतान को लेकर शिकायत, रोजगारमूलक कार्यों की कमी।

सीधी बात | किसी मजबूरी में नहीं, खुद से पलायन कर रहे हैं लोग

पुन्नूलाल मोहिले खाद्य, ग्रामोद्योग, बीस सूत्री कार्यक्रम मंत्री

आपके विधानसभा क्षेत्र में गरीबी व पिछड़ापन है, पलायन हो रहा है, जबकि आप खुद ग्रामोद्योग व बीस सूत्रीय कार्यक्रम मंत्री हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here