किसानों की उपज के लिए उचित मूल्य सुनिश्चित करने के लिए ‘प्रधानमंत्री अन्‍नदाता आय संरक्षण अभियान’ को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है।

0
203

Sep 14, 2018

सरकार की किसान अनुकूल पहलों को काफी बढ़ावा देने के साथ-साथ अन्‍नदाता के प्रति अपनी कटिबद्धता को ध्‍यान में रखते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने एक नई समग्र योजना ‘प्रधानमंत्री अन्‍न्‍दाता आय संरक्षण अभियान’ (पीएम-आशा) को मंजूरी दे दी है। इस योजना का उद्देश्य किसानों को उनकी उपज के लिए उचित मूल्य दिलाना है, जिसकी घोषणा वर्ष 2018 के केन्‍द्रीय बजट में की गई है।
यह किसानों की आय के संरक्षण की दिशा में भारत सरकार द्वारा उठाया गया एक असाधारण कदम है जिससे किसानों के कल्‍याण में काफी हद तक सहूलियत होने की आशा है। सरकार उत्‍पादन लागत का डेढ़ गुना तय करने के सिद्धांत पर चलते हुए खरीफ फसलों के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍यों (एमएसपी) में पहले ही वृद्धि कर चुकी है। यह उम्‍मीद की जा रही है कि एमएसपी में वृद्धि की बदौलत राज्‍य सरकारों के सहयोग से खरीद व्‍यवस्‍था को काफी बढ़ावा मिलेगा जिससे किसानों की आमदनी बढ़ेगी।
कैबिनेट ने 16,550 करोड़ रुपये की अतिरिक्‍त सरकारी गारंटी देने का फैसला किया है जिससे यह कुल मिलाकर 45,550 करोड़ रुपये के स्‍तर पर पहुंच गई है।
इसके अलावा खरीद परिचालन के लिए बजट प्रावधान भी बढ़ा दिया गया है और पीएम-आशा के क्रियान्‍वयन के लिए 15,053 करोड़ रुपये मंजूर किये गये हैं। अब से यह योजना हमारे ‘अन्‍नदाता’ के प्रति सरकार की कटिबद्धता एवं समर्पण का एक प्रतिबिम्‍ब है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here