22 तारीख को रायपुर के दौरे पर होंगे राहुल गांधी, किसानों को बताएंगे अपना विजन

0
152

16 Oct 2018

रायपुर  – कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 22 अक्टूबर को रायपुर आएंगे और यहां किसान सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे। विधानसभा चुनाव को देखते हुए राहुल मंच से किसानों से वादा करेंगे और प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर किसानों के विकास का विजन भी बताएंगे। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने किसानों से जुड़ी कुछ घोषणाओं को अभी से सार्वजनिक कर दिया है।

इसके अलावा राहुल मंच से कोई बड़ी घोषणा भी कर सकते हैं। मंच से राहुल केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार पर भी हमला बोलेंगे। राहुल के सम्मेलन की तैयारी को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने मंगलवार को राजीव भवन में प्रदेश और जिला पदाधिकारियों की बैठक बुलाई है।

प्रदेश में 35 लाख से अधिक किसान

प्रदेश में 35 लाख से अधिक किसान हैं, जो कि मतदाताओं का बड़ा वर्ग है। हर राजनीतिक दल किसानों को साधने में लगा हुआ है। भाजपा अपनी सभाओं में किसानों के विकास की बात कर ही है तो जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने तो ‘हल चलाता किसान” चुनाव चिन्ह ही ले लिया है। इस कारण आचार संहिता लगने के बाद राहुल का पहला दौरा किसानों के लिए रखा गया है। किसान सम्मेलन के माध्यम से कांग्रेस दूसरे राजनीतिक दलों को अपनी ताकत दिखाने की पूरी कोशिश करेगी।

भीड़ जुटाने आज बनेगी रणनीति

साथ ही, मतदाताओं के दूसरे वर्गों को भी यह संदेश दिया जाएगा कि प्रदेश का किसान कांग्रेस के साथ है, लेकिन इसके लिए बड़ी संख्या में किसानों की उपस्थिति दिखानी होगी। इसके लिए प्रदेश नेतृत्व मंगलवार से ही तैयारी में जुट जाएगा। पीसीसी अध्यक्ष बघेल बैठक लेंगे, जिसमें यह चर्चा होगी कि किस विधानसभा क्षेत्र से कितने किसान लाए जा सकते हैं, उन्हें कार्यक्रम स्थल तक लाने की क्या व्यवस्था रहेगी? हर विधानसभा क्षेत्र के लिए अलग-अलग नेताओं की जिम्मेदारी तय की जाएगी। इसके अलावा कार्यक्रम स्थल पर भी चर्चा होगी।

पांच माह बाद आमसभा होगी राहुल की

पिछली बार राहुल 10 अगस्त को आए थे, तब उन्होंने पार्टी के प्रदेश कार्यालय का लोकार्पण कर केवल कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया था। उसके पहले 17 और 18 मई को राहुल ने आमसभा की थी। पेंड्रा में आदिवासियों के जनाधिकार और सीतापुर के किसान सम्मेलन में शामिल हुए थे। पांच माह बाद राहुल की छत्तीसगढ़ में सभा होने जा रही है।

ड़ते ही खुल सकता है टिकट का पिटारा

पार्टी के नेताओं के मुताबिक 21 अक्टूबर को दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हो सकती है, जिसमें छत्तीसगढ़ में पहले चरण में 18 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए प्रत्याशियों का नाम तय कर दिया जाएगा। टिकट फाइनल होने के बाद असंतोष होना आम बात है। अभी से आशंकाओं और चर्चाओं के कारण माहौल गरमाया हुआ है। रविवार को प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया दिल्ली लौट रहे थे, तो एयरपोर्ट में सरायपाली के कुछ कांग्रेसियों ने विरोध किया था।

उनकी मांग थी कि सरायपाली से ओडिया समाज के नेता को टिकट दिया जाएगा। राहुल के दौरे के समय भी ऐसी स्थिति न बने, इसलिए अब यह माना जा रहा है कि राहुल के यहां से उड़े और दिल्ली से 18 सीटों के प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी जाएगी। प्रत्याशियों को अगले ही दिन नामांकन भरना होगा, क्योंकि पहले चरण के लिए नामांकन फॉर्म जमा करने की अंतिम तिथि 23 अक्टूबर है।

किसानों के लिए वादे में अभी क्या?

– किसानों का कर्ज माफ।

– पांच हॉर्सपॉवर तक के पंप को मुफ्त बिजली।

– दो साल का बकाया बोनस दो किस्तों में दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here