उम्मीद के हिसाब से कम लेकिन15 हजार क्विंटल की आवक हुई

0
136

सीहोर Nov 13, 2018

सात दिन के अवकाश के बाद सोमवार को मंडी खुली। इस दौरान शुभ मुहूर्त में व्यापारियों ने 3120 रुपए तक की बोली लगाकर शुरुआत की। इसके बाद भाव बड़ा और 3651 रुपए प्रति क्विंटल तक व्यापारियों ने उपज खरीदी। दीपावली पर्व के अवकाश के बाद पहले दिन करीब 15 हजार क्विंटल आवक रिकार्ड की गई। हालांकि व्यापारियों की उम्मीद से आवक कम रही।

दीपावली के लंबे अवकाश के बाद हर साल की तरह इस साल भी व्यापारियों ने मंडी में शुभमुहूर्त पर खरीदी की। नीलामी के दौरान पहली सोयाबीन की ट्राली 3120 रुपए प्रतिक्विंटल उपज के हिसाब से खरीदी गई। इसके बाद सोयाबीन का भाव बढ़ता गया और अधिकतम 3651 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से सोयाबीन की फसल बिकी।

एक हजार किसानों ने बेची भावांतर में उपज

20 अक्टूबर से भावांतर योजना शुरु की गई है। इसके तहत सोयाबीन और मक्का की उपज को भावांतर में शामिल किया गया है। सीहोर कृषि उपज मंडी में सोयाबीन और मक्का की उपज बेचने वाले करीब 1 हजार किसान हैं। जिन्हें भावांतर योजना का लाभ दिया जाएगा। सोयाबीन का समर्थन मूल्य 3399 निर्धारित किया गया है।

जबकि मक्का का समर्थन मूल्य 1700 रुपए निर्धारित किया गया है। इसके साथ ही पंजीकृत किसानों को 500 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से भावांतर राशि का भुगतान किया जाएगा।

सोमवार को मक्का 1020 से 1271 रुपए तक प्रति क्विंटल के हिसाब से बिका। इस भाव में भावांतर की राशि अधिकतम दाम में मिला दी जाए तो 71 रुपए ही किसान को अधिक मिल रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here