यूरिया के लिए मक्सी सोसायटी के चक्कर लगा रहे नहर किनारे बसे 12 से ज्यादा गांवों के किसान

0
120

शाजापु Nov 22, 2018

रबी के सीजन के समय अन्नदाताओं को खेतों में डालने के लिए समय पर यूरिया नहीं मिल रहा है। किसान सुबह से शाम तक यूरिया के लिए सोसायटी के चक्कर लगा रहे हैं, कुछ को यूरिया मिलता है, तो कुछ खाली हाथ लौटने को मजबूर है। ज्ञात रहे कि इस वर्ष हुई अल्प वर्षा की वजह से क्षेत्र के जलाशय रीते ही पड़े है। इस वजह से शासन द्वारा रबी की फसलों के लिए नहरों के माध्यम से पूरे सीजन में सिर्फ एक बार किसानों को पानी दिया जाना है। ऐसे में किसानों को समय रहते यूरिया नहीं मिला, तो उत्पादन पर असर पड़ेगा।

नहर किनारे बसे क्षेत्र के 12 से ज्यादा गांवों में किसानों को फसलों के लिए पानी छोड़ा जा चुका है। विभागीय सूत्रों की माने तो 25 नवंबर को नहर बंद कर दी जाएगी। ऐसी स्थिति में किसानों को खेतों में डालने के लिए यूरिया की जरूरत पड़ रही है, लेकिन मक्सी सोसायटी पर उन्हें कई चक्कर लगाने के बाद भी यूरिया नहीं मिल रहा है। सिरोलिया के कृषक बद्रीलाल जाट ने बताया शनिवार से बुधवार के बीच कई बार यूरिया के लिए सोसायटी आए पर सोसायटी के अधिकारी कर्मचारी आज-कल करते हैं, यदि हमें समय रहते यूरिया नहीं मिला, तो फसलें खराब हो जाएंगी। सोसायटी पर हो रही यूरिया की किल्लत के चलते कई किसान को ज्यादा कीमत चुकाकर बाजार भाव से यूरिया खरीदनी पड़ रही है, जिससे उन्हें दोहरी मार झेलनी पड़ रही है।

यूरिया के लिए परेशान होते किसान। समस्या का नहीं हो रहा समाधान।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here