बाजरा की फसल बचाने दवा का अच्छी तरह से घोल बनाकर करें छिड़काव

0
422

श्योपुर | Sep 19, 2018

खरीफ वर्ष में श्योपुर जिले में लगभग 19539 हैक्टेयर में बाजरे की फसल बोई गई है। जिन किसान के बाजरे की फसल में टिड्डा या ग्रास हॉपर या कटा ब्रिस्टल बीटल (चैंचिल) एवं ईयर हैड कैटर पिलर कीट फसल में क्षति पहुंचा रहा हो तो वर्तमान में इनके नियंत्रण के लिए खेत में 2-3 स्थान पर बल्ब लगाकर नीचे बर्तन में कैरोसिन रखें जिसमें कीट डूबकर मर जाएंगे। मिथाइल पैराथियान 2 प्रतिशत क्विनॉलफॉस 1.5 प्रतिशत या फेनवेलरेट पाउडर 20-25 किग्रा प्रति हैक्टेयर खड़ी फसल पर भुरकाव करें। इसी प्रकार प्रोफेनोफॉस 1.5 लीटर अथवा इडोक्सकार्ब 15 ई.सी. 400 मिली या साइपर मेथ्रिन 4 प्रतिशत, प्रोफेनोफॉस 40 प्रतिशत, 44 ईसी मिश्रण का 800-1200 मिली प्र्रति हैक्टेयर खड़ी फसल पर छिड़काव करें। (2 मिली दवा प्रति पानी का घोल बनाएं)। साथ ही ब्रिस्टल बीटल (चैचिल) एवं ईयर हैड कैटर पिलर (बाली की इल्ली) इन दोनो कीटों के नियंत्रण के लिए ट्राइजोफॉस 40 ई.सी. 1 लीटर प्रोफेनॉफोस 50 ई.सी. 1 लीटर (2 मिली दवा प्रति लीटर पानी का घोल बनाकर) प्रति हैक्टेयर खड़ी फसल पर छिड़काव करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here