कृषि कार्यों को मनरेगा से जोड़ने सहित अन्य मांगों को लेकर किसान संघ ने निकाली रैली

0
97

शुजालपुर | Sep 20, 2018

भारतीय किसान संघ ने मंगलवार को कृषि कार्यों को मनरेगा से जोड़ने सहित अन्य मांगों को लेकर रैली निकाल रोकड़िया हनुमान मंदिर चौराहे पर आमसभा करते हुए प्रधानमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा। भारतीय किसान संघ शुजालपुर इकाई ने किसानों की मांगों को लेकर संघ के प्रांतीय महामंत्री नारायणसिंह यादव के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। आमसभा के पूर्व किसान संघ अकोदिया नाके से पैदल मार्च कर रैली के रूप में विरोध प्रदर्शन करते हुए मंडी के प्रमुख मार्गों से होकर रोकड़िया हनुमान मंदिर चौराहे पर पहुंचे। यादव ने आमसभा में मनरेगा योजना को खेती किसानी से जोड़ने, न्यायोचित मांगों को पूरा करने की मांग की।

आमसभा को जिलाध्यक्ष मोहन चौधरी, जिला मंत्री घनश्याम पाटीदार, तहसील अध्यक्ष चंदरसिंह सिसौदिया, जिला उपाध्यक्ष कुंवरलाल परमार, कोषाध्यक्ष सोहन सिंह सिसौदिया, मोहन मेवाड़ा, मंत्री जगदीश परमार, प्रभारी विष्णु पाटीदार, अशोक अमृतिया, रामेश्वर जावरिया ने भी सभा को संबोधित किया। सभा पश्चात किसान संघ ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री व कलेक्टर के नाम तीन अलग अलग ज्ञापन तहसीलदार रमेशचंद्र सिसौदिया को सौंप अपनी मांगों की ओर ध्यान दिलाया। रैली व आमसभा में सैकड़ों की संख्या में किसान शामिल थे।

कृषि कार्यों को मनरेगा से जोड़ने सहित अन्य मांगों को लेकर रैली निकालते हुए किसान।

इन मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन

किसान को लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य दिया जाए, मंडी में खरीदी एवं भुगतान का सरलीकरण हो, 50 हजार रुपए तक भुगतान नकद किया जाए, कृषि कार्य एवं ट्रैक्टर में लगने वाले डीजल को जीएसटी के दायरे में लाकर रेट तय कर डीजल उपलब्ध कराए, सभी जिलों में सर्वसुविधायुक्त कृषि महाविद्यालय खोले जाए, कृषि उपकरण खाद बीज दवाइयों की कीमतों को कम किया जाए, कृषि को मनरेगा से जोड़ा जाए, मंडी में छोटे तौल कांटों की जगह बड़े तौल कांटे लगवाए जाए, लहसुन प्याज के भावांतर की मुआवजा व बीमा राशि तुरंत खातों में डाली जाए, शुजालपुर कृषि मंडी में 562 किसानों पर भावांतर योजना के फर्जीवाड़े शामिल होने के आरोप लगाए जा रहे है, उन्हें दोषमुक्त किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here