कपास का भाव कम मिलने पर किसानों ने किया हंगामा

0
289

 

Sep 29, 2018

मंडी में बोली के दौरान हंगामा करते किसान।

अंजड़ कृषि उपज मंड़ी में शुक्रवार दोपहर किसानों ने हंगामा किया, समझाइश के बाद माने

 अंजड़ 

स्थानीय मंड़ी में कपास की बंपर आवक के चलते शुक्रवार को अंजड़ मंडी प्रांगण कपास की बैलगाड़ियों और वाहनों से खचा-खच भर गया। लेकिन गत दिनों की अपेक्षा शुक्रवार को कपास के भावों में 300 रुपए क्विंटल तक की मंदी देखी गई। कम भाव व भावांतर के मुद्दे को लेकर चलती बोली में किसानों ने हंगामा कर दिया। इससे दो घंटे तक बोली बंद रही।

किसानों का यह कहना था की कपास के भाव जो कम मिल रहे हैं। इसका भावांतर कब और कैसे मिलेगा। इस बात को लेकर कुछ समय तक गहमा-गहमी रही। बाद में मंडी अध्यक्ष भगीरथ पाटीदार, मंडी सचिव एचएस जमरे व भाजपा मंडल अध्यक्ष भगत सिंह सोलंकी के आने पर किसानों को समझाइश दी गई कि यह सरकार की योजना है। अगर सरकार इसका भावांतर देगी। वह किसानों के खाते में ही आएगा और किसान यदि मंडी से अपनी उपज बेच रहा है। तो इससे किसानों को भावांतर योजना का लाभ मिल सकता है। समझाइश के कुछ समय बाद मंडी दोबारा से चालू हो सकी।

कपास के भाव कम होने से किसानों में मायूसी देखी गई और कुछ किसानों ने अपना बोली लगा माल कैंसल करवा दिया। किसानों ने बताया कि गत दिनों की अपेक्षा कपास की क्वालिटी में सुधार हुआ हैक। हमें और अच्छे भावों की उम्मीद थी। लेकिन कम भाव में कपास की खरीदी की जा रही है।

कपास की आवक व भाव

मंडी से प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को मंडी प्रांगण में 166 बैलगाड़ी व 152 वाहन कपास की आवक हुई। जो न्यूनतम 3825 रुपए से अधिकतम 4810 रुपए क्विंटल के भाव में बिका। इसका मॉडल भाव 4485 रुपए रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here