बांका जलाशय: किसानों ने मुआवजे के लिए घेरा कलेक्टोरेट, 3 अक्टूबर से चेक देने आश्वासन

0
350

मुअावजे की मांग करने किसान पहुंचे कलेक्टोरेट।

Oct 02, 2018

बिलासपुर

बेलतरा विधानसभा क्षेत्र के बांका जलाशय योजना में किसानों की जमीनों के अधिग्रहण के 5 वर्षों बाद भी उन्हें मुआवजा नहीं दिया गया है। इससे किसानों में आक्रोश है। 30 से अधिक किसानों ने सोमवार को कलेक्टोरेट पहुंचकर अपनी मांग के संबंध में ज्ञापन सौंपा तथा आंदोलन की चेतावनी दी।

कलेक्टोरेट पहुंचे किसानों का नेतृत्व किसान नेता अजय सिंह कर रहे थे। उन्होंने चेतावनी दी कि अगले 10 दिनों में मुआवजा नहीं मिला तो आर्थिक नाकेबंदी और चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा। बता दें कि बांका जलाशय योजना के वेस्टवेयर व माईनर नहर परियोजना को लेकर लगभग 35 से अधिक किसानों की भूमि जल संसाधन विभाग द्वारा अधिग्रहित की गई थी।

पांच वर्षों के बाद भी गरीब किसानों को मुआवजे के कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। किसानों ने बेलतरा क्षेत्र के कड़री जलाशय योजना व अन्य योजनाओं में बसहा, कड़री सहित दर्जनों गांवों के सैकड़ों किसानों के लंबित मुआवजे को लेकर किसान एवं कांग्रेस नेता अजय सिंह के नेतृत्व में बड़े आंदोलन की चेतावनी दी है। ज्ञापन पर विचार कर जिलाधीश पी. दयानंद ने भू अर्जन अधिकार एसडीएम बिलासपुर से फोन पर बात कर तत्काल मामले के निराकरण के आदेश दिए। किसानों ने एसडीएम बिलासपुर देवेन्द्र पटेल से भी भेंट की। जिस पर उन्होंने दो दिनों के भीतर ही समस्या हल करने का आश्वासन दिया।

साथ ही कहा कि रजिस्ट्री प्रक्रिया कर किसानों को चेक प्रदाय करने का कार्य 3 अक्टूबर से प्रारंभ किया जाएगा। जिला कांग्रेस महामंत्री अनिल सिंह चौहान ने किसानों के वर्षों से लंबित मुआवजे की मांग को लेकर पूर्व में भी दो बार आर्थिक नाकेबंदी कर आवाज उठाई थी। किसानों के प्रतिनिधिमंडल में संतोष कुमार आर्मो, नवल ध्रुवे, लक्ष्मीनारायण कैवर्त, पवन सिंह, रामकुमार ध्रुवे, त्रिवेणी राम, पार्वती, मेलन बाई, कृष्णभान, बेदराम, बाबूलाल, सरस्वती सिंह, शिवपाल सिंह, परदेशी राम, हेम कुंवर, तिज बाई, ललिता, रामरतन, आदि शामिल थे।

मुअावजे की मांग करने किसान पहंुचे कलेक्टोरेट।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here